बुराई पे अच्छाई का प्रतीक है विजयदशमी का त्योहार

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोहमारे देश भारत में हर त्योहार बहुत ज्यादा खुशी और उल्लास के साथ मनाया जाता है।उन्हीं त्योहार में से एक विजयदशमी का त्योहार है, जिसे हम दशहरा के नाम से जानते हैं। यह हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार है।

आज के दिन विजयदशमी का त्योहार पूरे देश में हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है, कोरोना वायरस महामारी के कारण भले ही लोग बाहर नहीं निकल सकते, लेकिन वह घर पर रहकर ही इस त्योहार का आनंद ले रहे हैं।

बता दें कि दशहरा पर्व में आज के दिन बुराई पर अच्छाई की जीत का उत्सव मनाते हुए रावण के पुतले को जलाया जाता है। रावण के पुतले के साथ ही उनके भाई कुंभकरण और बेटे मेघनाद के भी पुतले को जलाया जाता है, कहा जाता है कि दशहरा या विजयादशमी के दिन बिना शुभ मुहूर्त भी शुभ कार्यों को किया जा सकता है।ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस दिन किए गए नए कार्यों में सफलता हासिल होती हैं। विजयादशमी या दशहरा के दिन श्रीराम, मां दुर्गा, श्री गणेश और हनुमान जी की अराधना करके परिवार के मंगल की कामना की जाती है।

हर साल देश में दशहरा पर्व लोग बहुत धूमधाम से मनाते हैं। कोरोना महामारी के चलते लोग आपने घर में ही इस त्योहार को माना रहे हैं। विजयदशमी के दिन रावण के पुतलों को दहन करने में एक संदेश छिपा होता है कि हमें स्वयं के अंदर की बुराइयों पर विजय प्राप्त करनी चाहिए।अपने अंदर की बुराइयों को नष्ट करना चाहिए।यह ही इस त्योहार का असली महत्व है।

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोअमन आनंद

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES