ग्रेटर नोएडा: शादी में नहीं कर पाएंगे जनरेटर का उपयोग

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोजिला प्रशासन शादी समारोह और धार्मिक आयोजन पर वायु प्रदूषण नहीं करने की शर्त पर जनरेटर की अनुमति देगी। डीजल जनरेटर समेत ग्रेप के सभी नियमों का पालन करना आवश्यक है।

अनुमति में इन शर्तों को शामिल किया जाएगा। पहले प्रशासन की तरफ से जारी अनुमति में इसका जिक्र नहीं किया गया है। शादी समारोह और धार्मिक आयोजन पर डीजल जनरेटर का ज्यादा उपयोग होता है।

पिछले वर्ष लोगों की परेशानी को मद्देनजर रखते हुए छूट दे दी गई थी, परंतु वायु प्रदूषण ज्यादा ना हो इसलिए दिल्ली एनसीआर में 15 अक्टूबर से ग्रेडेड रेस्पॉन्स एक्शन प्लान‘ (ग्रेप) लागू हो रहा है। अबकी बार ग्रेप में डीजल जनरेटर को भी बंद किया जाएगा और अब किसी भी तरह की छूट नहीं दी गई है।

जिला प्रशासन डीजल जनरेटर के उपयोग पर रोक का ध्यान में रखकर अपनी अनुमति जारी करेगी। फिलहाल प्रशासन की तरफ से माता का जागरण दुर्गा पूजा, रामलीला और शादी समारोह की अनुमति दी जा रही है। तथा कोविड-19 नियमों का पालन करने की शर्त पर अनुमति दी जा रही है।

सिटी मजिस्ट्रेट ग्रेटर नोएडा गजेंद्र सिंह का कहना है ,कि जिला प्रशासन ग्रेप के नियमों को भी अनुमति में शामिल  करेगी। डीजल जनरेटर के साथ-साथ अन्य नियमों का भी जिक्र अनुमति में किया जाएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा वायु प्रदूषण पर रोक लगाई जा सके।

आरबीआई के मुताबिक पांच सालों में कई गुना बढ़ा डिजिटल भुगतान 

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोअश्वनी यादव

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES