बहुत सारी शक्तियां किसानों को भ्रमित करने में लगी हुई हैं- पीएम मोदी

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरो: लोकसभा में गुरूवार को कृषि से संबंधित दो बिल को मंजूरी मिल गई हैं और इन बिल से किसानों को फायदा होगा। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा कि देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है, लेकिन बहुत सारी शक्तियां किसानों को भ्रमित करने में लगी हुई हैं। 

विपक्ष दलों के भारी विरोध के बीच लोकसभा ने गुरूवार को कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) बिल, कृषक (सशक्तीकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक पारित कर दिया। आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक पहले ही पारित हो चुका है।

तीनों बिलों को अब राज्यसभा में रखा जाएगा और ऊपरी सदन में पारित होने के बाद ये कानून बन जाएंगे। इसी बीच बीजेपी के सबसे पुराने सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल ने विधेयकों का विरोध किया और मोदी सरकार में उसकी एकमात्र प्रतिनिधि हरसिमरत कौर ने इस्तीफा दे दिया। 

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट करते हुए कहा की,”किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई हैं। मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वस्त करता हूं कि MSP और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी। ये विधेयक वास्तव में किसानों को कई और विकल्प प्रदान कर उन्हें सही मायने में सशक्त करने वाले हैं। #JaiKisan

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में ये भी कहा, “लोकसभा में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयकों का पारित होना देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। ये विधेयक सही मायने में किसानों को बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त करेंगे।” 

उन्होंने कहा, “इस कृषि सुधार से किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए-नए अवसर मिलेंगे, जिससे उनका मुनाफा बढ़ेगा। इससे हमारे कृषि क्षेत्र को जहां आधुनिक टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, वहीं अन्नदाता सशक्त होंगे।”


कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि उपज एवं कीमत आश्वासन संबंधी विधेयकों को परिवर्तनकारी बताते हुए गुरुवार को कहा कि किसानों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का तंत्र जारी रहेगा और इन विधेयकों के कारण तंत्र पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

तोमर ने कहा कि यह किसानों को बांधने वाला विधेयक नहीं बल्कि किसानों को स्वतंत्रता देने वाला विधेयक है। इससे प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, किसानों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य दिलाना सुनिश्चित होगा और उन्हें निजी निवेश एवं प्रौद्योगिकी भी सुलभ हो सकेगी।

कांग्रेस ने कृषि से संबंधित विधेयकों को किसान विरोधी करार देते हुए गुरूवार को संसद के भीतर एवं बाहर इनका पुरे जोर शोर से विरोध किया था और आरोप लगाया कि सरकार किसानों को खत्म करने के साथ ही कुछ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाना चाहती है। कोग्रंस पार्टी नेता राहुल गांधी ने दावा किया की ये काले कानूनकिसानों और मजदूरों के शोषण के लिए बनाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें

किसान आंदोलन- लोकसभा में 2 विधेयक पास, हरसिमरत कौर बादाल का इस्तीफा 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरो: वर्षा तेवतिया

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES