नोएाड। सेक्टर-30 स्थित जिला अस्पताल में आज सुबह करीब 11 बजे डॉक्टरों की लापरवाही से पांच वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। परिजन सर्दी बुखार की शिकायत पर इलाज के लिए लेकर पहुंचे थे। जहां इलाज मिलने में देरी होने से बच्ची की मौत हो गई।
बरौला सेक्टर 49 के रहने वाली विनीत वाल्मिकी नोएडा
प्राधिकरण में सफाईकर्मी है। उनका कहना है कि वह मंगलवार सुबह पांच वर्षीय बच्ची नंदनी को लेकर सुबह करीब 8 बजे जिला अस्पताल पहुंचे थे। जहां ओपीडी संख्या 151 में बैठे डॉक्टर ने इलाज से पहले बच्ची का एक्सरे कराकर लाने को कहा। इस पर वह बच्ची को लेकर एक्सरे कराने पहुंचे। जहां करीब 15 मिनट के बाद एक्सरे कराकर दोबारा ओपीडी के डॉक्टर के पास लौटे, लेकिन इस बार डॉक्टर अपने कक्ष से नदारद रहे। कक्ष के बाहर दो घंटे इंतजार करने के बाद भी डॉक्टर नहीं पहुंचे। इसकी चलते चलते लाइन में लगे लगे बच्ची की मौत हो गई।
बच्ची की मौत पर जब उन्होंने हंगामा शुरू किया, तो अस्पताल प्रबंधन के द्वारा बच्ची को इमरजेंसी में ले जाकर दिखावे के लिए उपचार शुरू कर दिया। फिर थोड़ी देर बाद दोनों फेफड़े खराब होने की शिकायत पर बच्ची के मौत होने की बात कही। बच्ची की मौत पर उन्होंने परिजन को मामले की सूचने देकर अस्पताल पहुंचने के लिए। बच्ची की मौत पर अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया। मामले की सूचना पुलिस को भी दी गई है। पुलिस मामले को शांत कराने में लगी है। वहीं, सीएमएस डॉ वंदना शर्मा ने जांच के बाद मामले पर कार्रवाई की बात कही है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES