Sunday, May 16, 2021

संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले सबसे अधिक संतुष्ट हैं भारतीय मुसलमान

Must Read

संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले सबसे अधिक संतुष्ट हैं भारतीय मुसलमान

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत की ओर से यह बयान आया कि किसी भी तरह का अलगाववाद  सिर्फ उन लोगों के द्वारा फैलाया जाता है, जिनके खुद के स्वार्थ प्रभावित होते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जब भारतीयता की बात आती है तो सभी धर्म एकजुट हो जाते हैं, ना कोई हिंदू न कोई मुसलमान और ना ही कोई सिख, इसाई, एकजुटता ही भारत का प्रतीक है और सब एक साथ खड़े होते हैं।

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मुगल शासक के खिलाफ जंग का उल्लेख करते हुए बताया कि मुगल शासक अकबर के खिलाफ जंग में महाराणा प्रताप की सेना में कई मुसलमान भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि देश में जब भी संस्कृति पर हमला हुआ, सभी धर्म एक साथ खड़े नजर आए।

मोहन भागवत ने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि दुनिया में कोई दूसरा उदाहरण है, जहां लोगों पर शासन करने वाले किसी विदेशी धर्म का अस्तित्व वर्तमान में बचा हुआ है? उन्होंने कहा कि ऐसा कहीं नहीं है। ऐसा सिर्फ भारत में है। भारत के विपरीत पाकिस्तान ने अन्य धर्मावलंबियों को अधिकार नहीं दिया है।

मोहन भागवत ने कहा कि पाकिस्तान  का गठन मुसलमान के लिए अलग देश के तौर पर हुआ था। हमारे संविधान में यह कहीं नहीं लिखा कि भारत में बस हिंदू रह सकते हैं।  यदि आपको यहां रहना है ,तो हिंदुओं की श्रेष्ठता स्वीकार करनी होगी। यही हमारे राष्ट्र की प्रकृति है। यह अंतर्निहित स्वभाव ही हिंदू कहलाता। है। हिंदू का इस बात से कोई लेना देना नहीं है कि कौन किस को मानता है, किस की पूजा करता है। धर्म जोड़ने वाला,उत्थान करने वाला और सभी को एक सूत्र में पिरोने वाला होना चाहिए।

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि जब भी भारत और  इसकी संस्कृति के लिए त्याग और इसकी रक्षा की भावना जगती है, पूर्वजों के प्रति गौरव की भावना बलवती होती है, तो सभी धर्मों के बीच की दूरी, खटास खत्म हो जाती है। ऐसे में सभी धर्म के लोग एक साथ नजर आते हैं।भागवत ने यह भी कहा कि राम मंदिर राष्ट्रीय मूल्य और चरित्र का प्रतीक है। राम मंदिर का निर्माण केवल परंपरागत उद्देश्य के लिए नहीं है।

मोहन भागवत ने अपने बयान में यह भी कहा कि सच्चाई यह है कि देश के लोगों की मनोबल ,एकजुटता तोड़ने के लिए और संस्कृति मूल्य का दमन करने के लिए मंदिरों को तोड़ा गया। यही वजह है कि लंबे समय से हिंदू समाज मंदिरों का पुनर्निर्माण चाहता था।

हमारे आदर्श भगवान श्री राम के मंदिर को गिराकर हमें अपमानित किया गया।  आंक्रताओं द्वारा हमारे जीवन को त्रस्त किया गया। आज हम फिर से इसका पुनर्निर्माण करना चाहते हैं। इसलिए भव्य राम मंदिर बनाया जा रहा है।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल को सौंपा गया सार्वजनिक वितरण मंत्रालय का कार्यभार 

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोअश्वनी यादव

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

रविवार को गौतमबुद्ध नगर का दौरा करेंगे मुख्यमंत्री योगी, कोरोना से निपटने के लिए बनाए गए रणनीति की समीक्षा करेंगे, प्रशासन अलर्ट पर

क्राइम वीक न्यूज़ : उत्तर प्रदेश, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को नोएडा दौरे पर जाएंगे। वहां कोरोना से निपटने...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img