Sunday, May 16, 2021
Array

लाल बहादुर शास्त्री का देश के प्रति योगदान

Must Read

लाल बहादुर शास्त्री का देश के प्रति योगदान

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोलाल बहादुर शास्त्री देश के दूसरे प्रधानमंत्री थे और उन्होंने जय जवान जय किसान का नारा दिया।

2 अक्टूबर का दिन भारत के लिए दो बड़ी हस्तियों का जन्मदिन का दिन है क्योंकि इस दिन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती तो है ही वहीं देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती भी आज ही के दिन होती है।

लाल बहादुर शास्त्री देश के बेहद लोकप्रिय प्रधानमंत्री रहे हैं और आज ही के दिन साल 1904 में उनका जन्म उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था। आज उनकी जयंती के दिन हम उनकी जीवन यात्रा को बता रहे हैं।

लाल बहादुर शास्त्री जन्म 2 अक्टूबर 1904 मुगलसराय में हुआ था।1928 में उनका विवाह ललिता से हुआ। उनके  6 बच्चे हुए।

1942 के भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान उन्हें 4 साल की  जेल हुई बाद में 1946 में उन्हें जेल से रिहा किया गया था। कुल मिलाकर करीब 9 बार शास्त्री जेल गए।

शास्त्री देश के दूसरे प्रधानमंत्री बने और पीएम बनते ही उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती अनाज की थी। उस वक्त खाने की चीजों के लिए भारत अमेरिका पर निर्भर था। उन्होंने अपने पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उनकी सबसे पहली प्राथमिकता खाद्यान्न मूल्यों को बढ़ने से रोकना है।

1965 के युद्ध के दौरान शास्त्री जी राष्ट्रीय हीरो बन चुके थे। बाद में भारत पर युद्ध समाप्त करने का और समझौते का दबाव पड़ने लगा। शास्त्री जी को रूस बुलवाया गया समझौता वार्ता के दौरान शास्त्री ने सारी शर्ते मानीं लेकिन वो पाकिस्तान को जमीन लौटाने को तैयार नहीं हुए। 10 जनवरी, 1966 को उनको ताशकंद समझौते के दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करना पढ़ा।

इसके कुछ घंटे बाद 11 जनवरी 1966 की रात में ही उनका निधन हो गया।

नीति आयोग का बयान, कोरोना के बाद पर्यटन क्षेत्र में देखी जा सकती है बढ़त

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरोऋत्विक जैन

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

रविवार को गौतमबुद्ध नगर का दौरा करेंगे मुख्यमंत्री योगी, कोरोना से निपटने के लिए बनाए गए रणनीति की समीक्षा करेंगे, प्रशासन अलर्ट पर

क्राइम वीक न्यूज़ : उत्तर प्रदेश, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को नोएडा दौरे पर जाएंगे। वहां कोरोना से निपटने...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img