Sunday, May 16, 2021

नोएडा, ग्रेटर और यमुना प्राधिकरण के खिलाफ किसानों का गुस्सा भड़का, बड़े आंदोलन की दी ध्मकी

Must Read

ग्रेटर नोएडाः मुआवजा, आबादी भूखंड समेत अन्य मांगों को लेकर तीनों प्राधिकरण नोएडा, ग्रेटर और यमुना प्राधिकरण के खिलाफ किसानों का गुस्सा शांत होने का  नाम नहीं ले रहा है, इसी क्रम में 10 फीसदी आबादी के प्लॉट देने, बैकलीज कराने व प्रभावित किसान परिवार के युवाओं को रोजगार देने की मांग करते हुए बड़ी संख्या में पहुंचे किसानों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के गेट जमकर हंगामा किया। इससे पहले प्राधिकरण कार्यालय में अंदर घुसने को लेकर किसानों और पुलिस के बीच ध्क्का-मुक्की हुई। प्राधिकरण पर भारी संख्या में तैनात पुलिस बल ने किसानों को बीच में ही रोकने का प्रयास किया, मगर किसान पुलिस को पीछे धकेलते हुए प्राधिकरण के गेट पर धरने पर बैठ गए।

किसानों ने मुख्यमंत्री और मुख्य कार्यपालक अधिकारी को संबोधित एक ज्ञापन महाप्रबंधक के मुद्दे को लेकर गंभीर नहीं है। इसलिए मुद्दों को लटकाया जा रहा है।  अधिकारी बैठक में किसानों को आश्वासन देकर धोखा दे रहे हैं। वक्ताओं ने कहा कि अगर  किसानों उग्र हुए तो इसके लिए  जिम्मेदार होगा। किसानों का  आक्रोश लगातार बढ़  रहा है।  सभा स्थल पर पहुंचे महाप्रबंधक  को मुख्यमंत्री व सीईओ के नाम  ज्ञापन सौंपकर चेतावनी दी कि अगर समस्याओं को जल्द समाधान नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन करेंगे। संगठन ने आरोप लगाया कि सरकार ने किसानों के लिए आवंटित बजट में कटौती कर किसान विरोधी कार्य किया इस मौके पर रूपेश वर्मा, वीर सिंह नागर, दीपचंद नेताजी, हरेंद्र खारी, सूबेदार ब्रह्मपाल, रणवीर मास्टर, वीरसेन नागर, राजकुमार भाटी, एनके शुक्ला,गंगेश्वर दत्त शर्मा आदि मौजूद रहे। समाकांत श्रीवास्तव को सौंपा। किसानों ने चेतावनी दी कि अगर उनकी मांगें जल्दी नहीं मानी गईं तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा। संगठन के सदस्य इस प्रदर्शन को लेकर पिछले कई दिनों से गांवों में जनसंपर्क कर रहे थे। तय कार्यक्रम के तहत किसान प्राधिकरण गोलचक्कर पर एकत्र हुए। वहां से मार्च करते हुए प्राधिकरण की ओर रवाना हुआ। इस दौरान किसानों ने प्राधिकरण के खिलाफ नारेबाजी करते हुए किसानों के साथ भेदभाव करने, समस्याओं की अनदेखी करने का आरोप लगाया।

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए प्राधिकरण कार्यालय के आस पास पुलिस बल तैनात किया गया था। पुलिस ने प्राधिकरण कार्यालय की ओर बढ़ रहे किसानों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन उनसे बचते हुए किसान प्राधिकरण कार्यालय के बाहर तक पहुंच गए। प्राधिकरण के गेट के बाहर हुई सभा में किसानों ने कहा कि प्राधिकरण दस फीसद आबादी भूखंड, लीजबैक, फैक्टियों में स्थानीय युवाओं को पचास फीसद रोजगार दे।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

रविवार को गौतमबुद्ध नगर का दौरा करेंगे मुख्यमंत्री योगी, कोरोना से निपटने के लिए बनाए गए रणनीति की समीक्षा करेंगे, प्रशासन अलर्ट पर

क्राइम वीक न्यूज़ : उत्तर प्रदेश, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को नोएडा दौरे पर जाएंगे। वहां कोरोना से निपटने...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img