Sunday, May 16, 2021
Array

दोबारा लॉकडाउन लगाने से कितना होगा अर्थव्यवस्था को नुकसान

Must Read

दोबारा लॉकडाउन लगाने से कितना होगा अर्थव्यवस्था को नुकसान

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरो: कोरोना वायरस महामारी को फैले एक साल पूरा हो गया है। साल 2019 में शुरू हुई ये महामारी पूरी दुनिया पर कहर बरपा रही है। कोरोना संक्रमण के मामलों में भारत का स्थान दूसरे नंबर पर है। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर आ गई है और बाकी के राज्यों के हाल भी खराब हो रहे हैं। संक्रमण की संख्या में इजाफा होने के साथ ही स्वास्थ व्यवस्था एक बार फिर से दबाव में आ गई है।

इसके साथ ही बहुत सी जगहों के साथ ही देश भर में फिर से लॉकडाउन लगने के कयास लगाए जा रहे हैं। लॉकडाउन की वजह से लोग घरों से नहीं निकलेंगे तो हो सकता है कि संक्रमण की संख्या भी कम हो जाए। अहमदाबाद और कुछ अन्य शहरों में रात में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

वहीं दिवाली, छठ, करवाचौथ जैसे त्योहारों के समय खचाखच भीड़ से भरे बाजारों की तस्वीरों में साफ दिखा कि सामाजिक दूरी, देह से दूरी से संबंधित कोरोना से बचने के किसी भी नियम का पालन नहीं हुआ। संक्रमण के मामलों के बढ़ने में इस लापरवाही का बड़ा हाथ है। अभी भी यदि पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया जाए तो उसके प्रभाव का अध्यन जरूरी है। वैसे भी बहुत से सेक्टर अभी पहले लॉकडाउन के नकारात्मक प्रभाव से बाहर नहीं आ पाए हैं।

आज के वक्त में जब महंगाई बढ़ गई है ऐसे में एक और लॉकडाउन स्थितियों को खराब से बदत्तर स्थिति में ले जाएगा। इसलिए बेहतर होगा कि लॉकडाउन के अतिरिक्त उन सभी साधनों का इस्तेमाल किया जाए जिनके माध्यम से इस महामारी को फैलने से रोका जा सके।

 

क्राइम वीक न्यूज़ ब्यूरो: शामिन गार्डनर

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

रविवार को गौतमबुद्ध नगर का दौरा करेंगे मुख्यमंत्री योगी, कोरोना से निपटने के लिए बनाए गए रणनीति की समीक्षा करेंगे, प्रशासन अलर्ट पर

क्राइम वीक न्यूज़ : उत्तर प्रदेश, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को नोएडा दौरे पर जाएंगे। वहां कोरोना से निपटने...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img